prevention of illicit liquor
0 1 min 2 mths
0 0
Spread the love
Read Time:3 Minute, 6 Second

शराब और नकदी की तस्करी पर नजर रखेंगी 12 स्टेटिक सर्विलांस टीम prevention of illicit liquor

गुरुग्राम। हरियाणा का बॉर्डर दिल्ली के साथ लगने के कारण लोकसभा आम चुनाव 2024 के दृष्टिगत गुरुग्राम जिला अवैध शराब की बिक्री व जीएसटी चोरी के लिए काफी संवेदनशील क्षेत्र है। ऐसे में जिला मुख्यालय से लेकर पंचायत स्तर तक जीरो टोलरेंस नीति को अपनाते हुए कहीं पर भी अवैध शराब की बिक्री नहीं होनी चाहिए। यह बात आबकारी एवं कराधान विभाग हरियाणा के आयुक्त अशोक मीणा ने लघु सचिवालय स्थित कॉन्फ्रेंस हॉल में गुरुग्राम व नूंह जिला की स्टेटिकल सर्विलांस टीम (नाका इंचार्ज), फ्लाईंग स्क्वायड टीम व अन्य अधिकारियों की मीटिंग में कही।
उन्होंने कहा कि चुनाव प्रबंधन की दृष्टि से हरियाणा प्रदेश की काफी बेहतर छवि है, जिसे बरकरार रखना हम सभी की नैतिक जिम्मेदारी है। अशोक कुमार मीणा ने कहा कि पंजाब, चंडीगढ़ के माध्यम से हरियाणा के जरिए अन्य राज्यों में शराब की आवाजाही के लिए आबकारी विभाग द्वारा हरियाणा में 42 रूट निर्धारित किये गये हैं, एक पोर्टल भी बनाया गया है। लाइसेंस प्राप्त फर्मों को आवागमन के लिए उपरोक्त 42 रूट में से ही अपनी सुविधानुसार मार्ग का चयन करना होगा। अधिकृत रूट के अलावा अन्य मार्ग का प्रयोग करने पर नियमानुसार कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
इस मौके पर जिला निर्वाचन अधिकारी एवं डीसी निशांत कुमार यादव ने बताया कि अवैध शराब की रोकथाम के लिए जिला में 6 प्रमुख मार्गों पर नाके लगाए गए। वहीं स्टेटिकल सर्विलांस टीम व फ्लाईंग स्क्वायड टीम की बैठक लेकर उन्हें स्पष्ट निर्देश दिये जा चुके हैं। शराब और नकदी की तस्करी पर नजर रखने के लिए प्रशासन ने 12 स्टेटिक सर्विलांस टीमें (एसएसटी) भी बनाई हैं। नूह के जिला निर्वाचन अधिकारी एवं डीसी धीरेन्द्र खडग़टा ने बताया कि जिला में 13 प्रमुख मार्गों पर नाकों की व्यवस्था की गई है। जिसके लिए 27 जांच टीमें गठित कर सभी को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए हैं।

Happy
Happy
100 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply