grain market satnali
0 1 min 2 mths
1 0
Spread the love
Read Time:4 Minute, 16 Second

असंध (हरीश मदान) (no arrangement from the government in the grain markets assandh) हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष व हरियाणा कांन्फैड के पूर्व चेयरमैन बजरंग गर्ग ने असंध में व्यापारियों की समस्या सुनते  के उपरांत पत्रकार वार्ता में कहा कि 1 अप्रैल से मंडी में गेहूं की सरकारी खरीद शुरू हो चुकी है मगर सरकार की तरफ से मंडियों में गेहूं व सरसों की खरीद के लिए कोई पुख्ता प्रबंध नहीं है। मंडी में किसी प्रकार की मूलभूत सुविधा तक नहीं है। यहां तक की गेहूं का सरकारी एमएसपी 2275 रुपए प्रति क्विंटल है जिसके 2.5 प्रतिशत के हिसाब से आढ़तियों का 56 रुपए 87 पैसे कमीशन बनता है मगर सरकार आढ़तियों का कमिशन 10 रुपए 99 पैसे कम करके 45 रुपए 88 पैसे देने का आदेश जारी किया है। इसी प्रकार सरकार ने धान का भी कमीशन आढ़तियों का कम किया है। आढ़तियों का कमीशन कम करने से व्यापारियों में सरकार के प्रति बड़ा भारी रोष है जबकि अनेकों सालों से हर अनाज की खरीद मंडियों के आढ़तियों के माध्यम से होती आ रही है और 2.5 प्रतिशत पूरा कमीशन सरकार की तरफ से मिलता था। बजरंग गर्ग ने कहा कि सरकार ने सरसों, सूरजमुखी, चना, बाजरा, मूंग आदि फसलों की सरकारी खरीद आढ़तियों के माध्यम से ना करने से आढ़ती, किसान व मजदूरों में बड़ी भारी नाराजगी है। सरकार को हर अनाज की खरीद मंडी के आढ़तियों के माध्यम से करके आढ़तियों को 2.5 प्रतिशत पूरी दामी देनी चाहिए। सरकार बड़े-बड़े घरानों को लाभ पहुंचाने के लिए सरकारी अनाज मंडियां बंद करने पर तुली हुई है। सरकार अनाज, सब्जी व फलों के व्यापार पर बड़े-बड़े घरानों का कब्जा करवाना चाहती है अगर ऐसा हो गया तो अनाज, सब्जी व फलों के दाम पहले से दो-तीन गुना देश में ओर बढ़ जाएंगे। श्री गर्ग ने कहा कि बड़े-बड़े घराने पूरे देश में वेयरहाउस व साइलो बना कर अनाज का भंडारण करना चाहते है। सरकार अनाज की ख़रीद आढ़तियों के माध्यम से ना करके प्राइवेट कंपनियों के माध्यम से या खुद सीधा करना चाहती है जो सरासर गलत है। अनाज मंडियों में 40 हजार आढ़ती, हजारों गांव में भर्ती करने वाले, लाखों मजदूर, मुनीम, ट्रांसपोर्टर आदि को सीधे तौर पर रोजगार मिल रहा है। अगर सरकार अनाज खरीद आढ़तियों के माध्यम से नहीं करेगी तो लाखों लोग बर्बाद हो जाएंगे। भाजपा सरकार पूरी तरह से आढ़ती, किसान व मजदूर विरोधी सरकार है। यह सरकार आढ़ती किसान व मजदूरों को बर्बाद करने पर तुली हुई है मगर ऐसा किसी कीमत पर नहीं होने दिया जाएगा। इस अवसर पर पदम सेन गुप्ता, मंडी प्रधान जयकुमार गर्ग, व्यापार मंडल प्रधान असंध सुशील गर्ग, पार्षद संदेश जिंदल, पार्षद जगदीश गुप्ता, पूर्व चेयरमैन विपिन छाबड़ा, नगर पालिका अध्यक्ष घनश्याम दास गर्ग, प्रधान पंजाबी बिरादरी नरेश मेहता, प्रधान रामनिवास जिंदल,  डॉक्टर बूटी राम जी, विनोद बिंदल, रामगोपाल जिंदल, जगदीश गुप्ता आदि व्यापारी प्रतिनिधि भारी संख्या में मौजूद थे।

About Post Author

Anjana Kashyap

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply