Maa Kali Chalisa
0 1 min 2 mths
0 0
Spread the love
Read Time:1 Minute, 42 Second

Note: श्री वंदना आठ बार पढ़ना जरूरी है:-

श्री माँ काली की चालीसा, जो मां काली की महिमा और प्रशंसा का प्रतीक है, निम्नलिखित है:

जय काली माँ॥ (Maa Kali Chalisa)

नमो नमो दुर्गे सुख करनी।
नमो नमो अम्बे दुःख हरनी॥

माँ काली के चरणों में जो नित बैठते हैं।
मन वंचित फल पाते हैं, दुःखों को मिटाते हैं॥

नित्य सत्य पालन करती, चारों युगों में ध्यान।
त्रिगुणी माँ की आराधना, दुःखों को करे दूर भगवान॥

सर्वशक्तिमय माँ की, कृपा अपार।
प्रणाम करते हैं हम, निर्भय अभय की आस हमार॥

काली जय काली, महाकाली, कल्याणी।
सब सुख-संपत्ति दें माँ, सदा ही आनंद नियारी॥

सब कुछ अपने हाथ में, माँ का अभय वचन धरा।
शक्ति स्वरूप माँ की जय, सदा याद किया हमने वहा।॥

जय माँ काली॥

यह चालीसा मां काली की उपासना और महिमा का गान करती है। इसे नियमित रूप से पढ़ने से आपको सांत्वना, शक्ति और सफलता प्राप्त हो सकती है। आप इसे अपनी श्रद्धा और भक्ति के साथ पढ़ सकते हैं।

Also Read:जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा shree Ganesh Arti

Also Read:जय कन्हैया लाल की Krishna Chalisa in Hindi

Also Read:जय श्री राम चालीसा jai shree ram Chalisa Complete in Hindi

Also Read:हनुमान चालिस कितनी बार पढ़ना जरूरी है इसके नियम क्या हैं hanuman chalisa lyrics in Hindi

Follow Us: Faceebok Page

About Post Author

Anjana Kashyap

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %