jai shree ram Chalisa Complete in Hindi
0 1 min 2 mths
0 0
Spread the love
Read Time:2 Minute, 31 Second

jai shree ram Chalisa Complete in Hindi

॥ जय श्री राम चालीसा ॥

जय श्री राम, रघुनायक, जय रघुबीर।
कर्पूर गौरारी गिरिजा सों विराजत नीर॥

मंगल मूरति मानस, तुम धरणि नंदन।
जनक सुता निजपद पांगज स्मरणी संतन॥

श्री राम चन्द्र की जय, पवनसुत हनुमान की।
सुनहु प्रभु अरज मेरी, भक्तन हरष भरनी की॥

मंगल भवन अमंगल हारी, द्रवहु सो दशरथ नंदन।
जय रघुबीर समर्थ की, रिपु को दहिनी दुख भंजन॥

कपि सुग्रीव समर्थ कैसें, जानत भाल विचारी।
संजीवन संभार कैसें, लेउ पवन सुत हमारी॥

हरि मुद्रिका मन्त्र सों, संधु असुर निकट जारि।
राम पद ध्यान धरहिं तरहि, बिनु अवग्या को कारि॥

जनकदुलारि धरहिं ध्यान, सिंधु करौं रघुराय।
जय जय जय जपि अनेक, जिन्ह कृत करवल को फल देय॥

मंत्र मुद्रिका कपि सों, धरहिं गुरुपद कें ध्यान।
विनय नायक बल संजीवनी, किन्हें सों आधार रामचन्र ध्यान॥

तुम बिनु मुलति कछु सों भव, धरहु ध्यान रघुनायक।
तुम तारण हौ जग के सभी, भवबंधन उतार रघुबीर॥

अंतहि काल रघुबीर जय, सुनहु अर्ज भक्तन का।
जनि दिन जानत न तुम, सुनत मुख महिं मुख दरशन देख जन रघुबीर॥

सुनहु रघुबीर बिनय करहु, भक्तन की पूजन चारी।
मंत्र मुद्रिका भक्तन कैसें, करहु कृपा विचारी॥

तुम्ह बिनु अरू न कोई, जियन राम बिचारा।
राम रहीम निज धाम बिनु, सभ धाम हैं अधारा॥

जय जय जय श्री रघुवीर।

Also read:shani dev ki aarti: श्री शनिदेव भगवान हिंदू धर्म के नवग्रहों में से एक

Also read:shiv chalisa in hindi शिव चालिसा कितनी बार पढ़ना जरूरी है शिव चालिसा के नियमों का पालन न करने पर क्या हो सकता है

Also read:shiv chalisa in hindi शिव चालिसा कितनी बार पढ़ना जरूरी है शिव चालिसा के नियमों का पालन न करने पर क्या हो सकता है

Also read:Durga Chalisa दुर्गा चालीसा का पूरा पाठ

About Post Author

Anjana Kashyap

Happy
Happy
100 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %